» प्रर्दशनी
» नाट्य समारोह
» नृत्य समारोह
» मेला महोत्सव/समारोह
» छत्तीसगढ़ पद्मश्री पद्मभूषण पुरुस्कार
 
 
» TRADITIONAL ORNAMENTS
» CHHATTISGARHI VYANJAN
» TRADITIONAL INSTRUMENTS
 
SUCCESSOR LIST
 
OTHER LINKS
पं. लखनलाल मिश्र सम्मान

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अपनी शासकीय नौकरी अंग्रेज शासन को समर्पित कर भारत माता को अंग्रेजों की गुलामी से मुक्त कराने में छत्तीसगढ़ अंचल से अपनी तरह का अभूतपूर्व योगदान देने वाले पं. लखन लाल मिश्र का जन्म ग्राम - मुरा, तहसील एवं जिला - रायपुर में दिनांक 24 सितम्बर, 1909 को हुआ था । प्रायमरी की परीक्षा पास कर वे मिडिल पढ़ने के लिए रायपुर आए । सन् 1920 में रायपुर का राष्ट्रीय विद्यालय आजादी की लड़ाई में छात्र आंदोलन का केन्द्र था । वहां के छात्र खादी की टोपी लगाते और वन्दे मातरम् का घोष करते है, अपनी क्षमता के अनुसार आजादी के महासमर में अपना योगदान दिया करते थे । उस समय रायपुर में छात्रों की टुकड़ी वानर सेना के नाम से विख्यात थी । अंग्रेजी - राज की पुलिस को रायपुर की वानर सेना ने भी परेशान कर दिया था, जिसके एक सक्रिय सदस्य मिश्र जी भी थे । आप सन् 1930 में इलाहाबाद के इरविंग कॉलेज से इन्टर की परीक्षा उत्तीर्ण कर सन् 1932 - 33 में पुलिस विभाग में उप निरीक्षक के पद में नियुक्त हुए । पुलिस अधिकारी के रुप में कार्य करते हुए भी मिश्र जी का मन सदैव भारत माता को आजाद देखने के लिए छटपटाता रहता था । 15 दिसम्बर, 1945 को कांग्रेसी नेता श्री आर.के. पाटिल का दुर्ग आगमन हुआ । पुलिस आफिसर श्री लखनलाल मिश्र थाना प्रभारी के पद पर थाना - कोतवाली, जिला - दुर्ग में तैनात थे । वे सूत की एक माला पाटिल साहब को पहनाकर सैल्यूट करते हुए वंदे मातरम् कर रहे थे तथा उनके मुंह से महात्मा गांधी की जय, भारतमाता की जय उद्घोष निकला । इस घटना ने अंग्रेज सरकार को चौकन्ना कर दिया । श्री मिश्र पुलिस की वर्दी बिल्ला आदि उतारकर पुलिस विभाग की नौकरी से इस्तीफा देकर स्वतंत्रता संग्राम में कूद पड़े । इस साहसिक कार्य की सराहना मुक्तकंठ से शेगँव, वर्धा में महात्मा गांधी, आचार्य विनोबा भावे, हरिविष्णु कामथ जैसे महान लोगों ने की, और उनके स्वतंत्रता संग्राम में शामिल होने का स्वागत किया । शासकीय सेवा से इस्तीफा देने एवं स्वतंत्रता संग्राम में शामिल होने के बदले उन्होंने आजादी के बाद किसी प्रकार का शासकीय लाभ अपने तथा अपने परिवार के लिए नहीं लिया एवं क्षेत्र के किसानों के हित में कार्य करते रहे ।

सम्मान ग्रहिता
2009 2010 2011 2012 2013
श्री रोहणी प्रताप अहिरवार श्री लक्ष्मण कुमेटी श्री उत्तम कुमार वर्मा ---
    श्रीमती नवी मोनिका पाण्डेय ----
2014 2015 2016    
   

श्री विभुदीप नंद

 

श्री जय मंगल पटेल, सहायक उपनिरीक्षक तत्कालीन, कोसिर, रायगढ़ श्री अमित पाटले,
उप-निरीक्षक, पुलिस चैकी रायगढ़