» प्रर्दशनी
» नाट्य समारोह
» नृत्य समारोह
» मेला महोत्सव/समारोह
» छत्तीसगढ़ पद्मश्री पद्मभूषण पुरुस्कार
 
 
» TRADITIONAL ORNAMENTS
» CHHATTISGARHI VYANJAN
» TRADITIONAL INSTRUMENTS
 
SUCCESSOR LIST
 
OTHER LINKS

संचालनालय, संस्कृति एवं पुरातत्व
रायपुर, छत्तीसगढ़
संचालनालय, संस्कृति एवं पुरातत्व रायपुर, छत्तीसगढ़
अनुक्रमणिका
क्रं विषय
1 संगठन की विशिष्टियॉं एवं कर्त्तव्य
2 अधिकारियों और कर्मचारियों की शक्तियॉं एवं कर्तव्य
3 लोक प्राधिकरण
4 लोक सूचना अधिकारी
5 निर्देशिका (अधिकारी/कर्मचारी)
6 कृत्यों के निर्वहन के लिए स्थपित मानक/नियम
7 इलेक्ट्रानिक रूप में उपलब्ध सूचनाऍ
8 सूचना प्राप्त करने के लिए नागरिकों को सुविधाएं
9
  • विविध जानकारी
  • मं. घसीदास स्मा., रायपुर
  • जिला पुरातत्व संग्रहालय, जगदलपुर
  • जिला पुरातत्व संग्रहालय, बिलासपुर
  • महंत सर्वेश्वर दास सार्व. ग्रंथालय
  • राज्य संरक्षित स्मारकों की सूची
  • राज्य में केन्द्र संक्षित स्मारक
  • रसायन शाखा (2000-2005)
  • प्राचीन कलाकृतियों की चोरी
  • अधिनियम 1972 के अंतर्गत रजिस्टर्ड पुरावशेष
10
  • अनुदान/राज सहायता कार्यक्रमों के क्रियान्वयन की रीति
  • अशासकीय सांस्कृतिक संस्था सहायता
  • वित्तीय सहायक-पेंशन
    कलाकार कल्याण कोष
11 संस्थाओं/कलेक्टरों को अनुदान के क्रियान्वयन की रीति


संचालनालय, संस्कृति एवं पुरातत्व
रायपुर, छत्तीसगढ़
मेनुअल

संगठन की विशिष्टियॉं एवं कर्त्तव्य

2.1 लोक प्राधिकरण के उद्‌देश्य - राज्य के संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के अंतर्गत पुरातत्व एवं संस्कृति के अतिरिक्त राजभाषा तथा अभिलेखागार सम्मिलित है। पुरातत्व आधारित क्रियाकलापों के अंतर्गत पुरातत्वीय स्मारकों का संरक्षण, संवर्द्धन, अनुरक्षण, उत्खनन-सर्वेक्षण, संग्रहालयों का विकास आदि गतिविधियों से संबंधित है। संस्कृति के अंतर्गत राज्य की पारंपरिक लोक कलाओं का प्रदर्शन, शिल्प कला के कार्यशालाओं का आयोजन, राष्ट्रीय स्तर पर तथा अन्य राज्यों मे कला आधारित कार्यक्रमों का प्रदर्शन तथा अन्य समसामयिक ललित कलाओं को प्रोत्साहित करना है। अभिलेखागार एवं राजभाषा के माध्यम से राज्य में दुर्लभ दस्तावेजों का अन्वेषण, उनका संग्रहण और उनके ऐतिहासिक मूल्यों का अध्ययन-विश्लेषण है। संस्कृति से संबंधित महत्वपूर्ण कार्यक्रम तथा आयोजन वार्षिक केलेण्डर में निर्धारित है। उपर्युक्त कार्य तथा आयोजनों का उद्‌देश्य राज्य की संस्कृति का अधिकाधिक प्रचार-प्रसार तथा संरक्षण प्रदान करना है।

2.2 लोक प्राधिकरण का मिशन/विजन- छत्तीसगढ़ विपुल पुरा संपदा तथा ऐतिहासिक धरोहरों से समृद्ध राज्य है। प्रागैतिहासिक काल से लेकर ऐतिहासिक काल तक के विभिन्न स्मारक स्थल, भग्नावशेष, मंदिर, बौद्ध-बिहार आदि यहॉं विद्यमान हैं। यहॉं से प्राप्त अभिलेख, ताम्रपत्र, सिक्के तथा ताम्रपत्रों से तत्कालीन कला संस्कृति के विभिन्न आयाम- धर्म, साहित्य, आर्थिक स्थिति, सामाजिक स्थिति आदि का अभिज्ञान होता है। भारतीय कला के इतिहास में छत्तीसगढ़ के स्थापत्य कला की विशिष्ट भूमिका रही है। छत्तीसगढ़ की लोक संस्कृति में नृत्य, कला, संगीत, अभिनय, प्रहसन, चित्रकारी, शिल्पकृति आदि सम्मिलित हैं। इसी प्रकार दुर्लभ अभिलेखों के अन्वेषण तथा संग्रहण की ओर भी ध्यान केन्द्रित किया गया है। संस्कृति विभाग अपने क्रियाकलापों के अंतर्गत सम्मिलित विधाओं के सहित राज्य के सांस्कृतिक संपदा तथा गरिमा को समग्र रूप से चिन्हांकन, अभिलेखीकरण, संरक्षण, संवर्द्धन तथा जनोन्मुखी करने की दिशा में प्रयासरत है।

2.3 लोक प्राधिकरण के संक्षिप्त इतिहास और इसके गठन का प्रसंग - छत्तीसगढ़ राज्य की स्थापना 1 नवंबर 2000 को हुई है। राज्य के निर्माण के साथ संस्कृति तथा पुरातत्व विभाग की स्थापना हुई है। 1 नवंबर 2000 के पूर्व यह विभाग मध्यप्रदेश राज्य के पुरातत्व संग्रहालय एवं अभिलेखागार के अंतर्गत रहा है। वर्ष 1956 में मध्यप्रदेश राज्य के निर्माण के समय यह विभाग शिक्षा विभाग के अंतर्गत सम्मिलित रहा है। वर्ष 1970 के आसपास पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग स्वतंत्र रूप से अस्तित्व में आया। बाद में अभिलेखागार को पुरातत्व एवं संग्रहालय में सम्मिलित कर दिया जाकर 'पुरातत्व संग्रहालय एवं अभिलेखागार' नामकरण किया गया। छत्तीसगढ़ में संस्कृति विभाग के अंतर्गत पुरातत्व, संस्कृति, राजभाषा एवं अभिलेखागार सम्मिलित है और संचालनालय संस्कृति एवं पुरातत्व के अंतर्गत कार्यरत है।

2.4 लोक प्राधिकरण के कर्तव्य - संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के अंतर्गत प्रभार कार्यरत है जिसके कार्य संधारण निम्नलिखित हैं -

  1. पुरातत्व एवं संग्रहालय -स्मारकों का संरक्षण, अनुरक्षण, रसायनिक संरक्षण, सर्वेक्षण, उत्खनन, छायाचित्रीकरण, प्रकाशन, प्रतिकृति निर्माण एवं विक्रय, संग्रहालय की स्थापना प्रदर्शन एवं विकास।
  2. राजभाषा एवं संस्कृति - निर्धारित वार्षिक केलेण्डर के अनुसार कार्यक्रमों का आयोजन, जिसके अंतर्गत निम्नानुसार कार्यक्रम सम्मिलित हैं - गणतंत्र दिवस समारोह, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर समारोह का आयोजन, राज्योत्सव एवं अलंकरण समारोह, राजिम महोत्सव, पावस प्रसंग, शास्त्रीय संगीत का आयोजन। इसके अतिरिक्त विभिन्न महापुरूषों, साहित्यकारों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन समय-समय पर किया जाता है। आकार एवं अन्य कार्यशालाओं का आयोजन । इसके अतिरिक्त विभिन्न संस्थाओं एवं व्यक्तियों को कार्यक्रमों के आयोजन हेतु अनुदान उपलब्ध करवाया जाता है। अर्थाभावग्रस्त कलाकारों/ साहित्यकारों को कलाकार कल्याण कोष से आर्थिक सहयोग प्रदान किया जाता है।
  3. अभिलेखागार- - छत्तीसगढ़ से संबंधित ऐतिहासिक एवं महत्वपूर्ण स्थायी प्रकृति के अभिलेखों के अधिग्रहण-स्थान्तरण के अन्तर्गत मध्यप्रदेश से अभिलेखों की लगभग 3000 पृष्ठ छायाप्रतियाँ अभिलेखागार में लायी जा चुकी हैं, साथ ही लगभग 1500 अभिलेखों को चिन्हांकित किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त अति महत्वपूर्ण अभिलेखों को चिन्हांकित कर उनकी लगभग 100 छायाप्रतियाँ प्राप्त किए जाने हेतु मध्यप्रदेश राज्य अभिलेखागार को लेख किया गया है। मूल अभिलेखों के हस्तान्तरण बाबत प्रयास किए जा रहे हैं। राष्ट्रीय पाण्डुलिपि मिद्गान भारत सरकार द्वारा अभिलेखागार के माध्यम से छत्तीसगढ़ के समस्त जिलों में पाण्डुलिपियों का सर्वेक्षण जिला प्रशासन के सहयोग से प्रारम्भ किया गया था। इसके अन्तर्गत महत्वपूर्ण पाण्डुलिपियों को चिन्हांकित तथा सूचीकृत किया गया है। प्रथम चरण का सर्वेक्षण कार्य संपन्न हो चुका है। मिद्गान की ओर से द्वितीय चरण की पुनरीक्षित रूप रेखा प्राप्त होते ही सर्वेक्षण में प्रगति जारी रहेगh। उसके पद्गचात उनके संरक्षण हेतु संधारकों के यहां अथवा उनसे लेकर एक विद्गोष स्थान अथवा राज्य अभिलेखागार में वैज्ञानिक विधियों द्वारा संरक्षित किया जाएगा। अन्य राज्यों की भाँति छत्तीसगढ़ राज्य अभिलेखागार भवन हेतु प्रयास तेज कर दिए गए हैं, इसके अन्तर्गत छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को डीपीआर तैयार करने हेतु लेख किया गया है।
  4. पुरखौती मुक्तांगन संग्रहालय का विकास -राज्य की संस्कृति, परंपरा, पुरातत्व, पर्यावरण और जीव-सृष्टि की सन्निधि में विकास की कल्पना को साकार करने हेतु पुरखौती मुक्तांगन का निर्माण कार्य प्रारंभ हुआ और राज्य के पारंपरिक शिल्पियों के द्वारा इसे सांस्कृतिक धरोहर के रूप में आकार प्रदान करने का संकल्प जीवन्त हुआ। पुरखौती मुक्तांगन रायपुर से लगभग 20 कि.मी. की दूरी पर ग्राम-उपरवारा में लगभग 200 एकड़ भूमि पर आकार ग्रहण कर रहा है। माननीय राष्ट्रपति महोदय द्वारा पुरखौती मुक्तांगन के प्रथम चरण का लोकार्पण किया गया, लोकार्पण समारोह में माननीय राष्ट्रपति महोदय ने निर्माणाधीन इस योजना की सराहना की। राज्य की इस महत्वाकांक्षी परियोजना के परिसर में माननीय मुखयमंत्रीजी के हाथों पारंपरिक पौधों का रोपण कर शिल्प ग्राम निर्माण का संकल्प लिया गया। इस योजना के निर्माण कार्य हेतु ग्रामीण अभियांत्रिकी विभाग, अभनपुर, रायपुर एवं छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल, रायपुर को क्रियान्वयन एजेन्सी के रूप में दायित्व सौंपा गया है। लगभग 200 एकड़ परिक्षेत्र में फैला पुरखौती मुक्तांगन शैक्षणिक केन्द्र होगा जिसमें छत्तीसगढ़ की जनजातीय संस्कृति, कलाशिल्प, प्राकृतिक संरचना और भौगोलिक परिदृश्य, पर्यावरण और जैव विविधता को प्रदर्शित करने हेतु विकास कार्य संपन्न कराये जा रहे हैं जिसका लोकार्पण माननीय राष्ट्रपति के द्वारा किया गया। माननीय राष्ट्रपति महोदय द्वारा पुरखौती मुक्तांगन की इस अवधारणा की सराहना की गई है। प्रथम चरण के विकास कार्य में भव्य प्रवेश द्वार, पर्यटन सूचना केन्द्र, पाथ-वे, माड़ियापथ, बैगा चौक, देवगुड़ी, छत्तीसगढ़ हाट, आभूषण पार्क, छत्तीसगढ़ी चौक, जनजातीय पारंपरिक शेड, मनोरंजक उद्यानगृह, सड़क एवं जल-निकास, लौह शिल्पियों की कार्यशाला एवं भित्तिचित्र निर्माण, सरगुजा की भित्तिचित्र का पारंपरिक जाली निर्माण, स्वतंत्रता सेनानियों की मूर्तियों का निर्माण, चारदीवारी निर्माण, छत्तीसगढ़ का मानचित्र का निर्माण जिसमें छत्तीसगढ़ के विभूतियों को दिखाया गया है, भू-दृश्य सौंदर्यीकरण एवं विद्युत साज-सज्जा आदि कार्य संपन्न किये जा चुके हैं। साथ ही इस वर्ष पाथवे में फाउण्टेन एवं वाटरफॉल को प्रारंभ किया गया है। वर्तमान में पुरखौती मुक्तांगन में स्थापित पारंपरिक लोक नृत्यों के भ्रमण हेतु पाथवे का निर्माण तथा लाईट एवं साउंड इफेक्ट का कार्य करवाया गया हैं एवं पुरखौती मुक्तांगन में मछली घर का निर्माण मत्स्य विभाग रायपुर छ.ग. द्वारा कराया जा रहा है। इसके अलावा राक गार्डन के निर्माण हेतु नोडल एजेंसी खनिज विभाग को बनाया गया है। माननीय संस्कृति मंत्री जी की घोषणा के अनुसार वर्ष में 4 बार लोक प्रसंग का कार्यक्रम प्रारंभ किया जाए। इसके तहत लोक प्रसंग उत्सव 4 बार आयोजित किया जा रहा है। जिसको यहां की जनता ने काफी सराहा है। इस वर्ष प्रमुख पर्यटकों में से छत्तीसगढ़ के माननीय मुखयमंत्री, माननीय विधानसभा अध्यक्ष एवं माननीय संस्कृति मंत्री के साथ ही साथ पंजाब के माननीय उपमुखयमंत्री श्री सुखवीर सिंह बादल रहें। इसी तरह अन्य गणमान्य नागरिकों का आगमन हुआ एवं उन्होंने पुरखौती मुक्तांगन के स्वरूप की प्रशंसा की है।

वर्ष 2012-13 में पर्यटकों की संख्या 1,50,000 रही। पर्यटकों की प्रवेश शुल्क के रूप में शासन के खाते में राजस्व के रूप में राशि रू. 3.40 लाख जमा किए गए। इसी तरह अन्य गणमान्य नागरिकों का भी आगमन हुआ है एवं उन्होंने पुरखौती मुक्तांगन के स्वरूप की प्रशंसा की गई। इस प्रकार पुरखौती मुक्तांगन परिसर को जो भारत में पर्यटन के साथ-साथ सांस्कृतिक एवं शैक्षणिक केन्द्र के रूप में आकार ले रहा है।

  1. बहुआयामी सांस्कृतिक संस्थान की स्थापना एवं क्रियान्वयन - राज्य के विविध सांस्कृतिक गतिविधियों के प्रदर्शन, विकास, प्रचार-प्रसार, संकलन, कार्यशाला आदि के प्रत्यक्ष आयोजन से संबंधित संस्थान के विकास हेतु छत्तीसगढ़ बहुआयामी सांस्कृतिक संस्थान के गठन किया गया है। संस्थान में खयातिप्राप्त साहित्यकारों, कलाकारों की एक अंतःसंकायी समिति होगी। साथ ही विविध कलाओं एवं संकायों से चयनित उच्चस्तरीय विशेषज्ञ सम्मिलित होंगे। यह केन्द्र समुदायों के विशिष्ट सांस्कृतिक क्रियाकलापों को सर्वत्र प्रोत्साहित करेगा। इस योजना को साकार करने के उद्‌देश्य से आडिटोरियम, मुक्ताकाश मंच, आर्ट गैलरी आदि तैयार किया जाना है। 'बहुआयामी संस्कृति संस्थान' के निर्माण हेतु इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय परिसर रायपुर में 10 एकड़ भूिम उपलब्ध हो चुकी है। इस सांस्कृतिक परिसर के निर्माण हेतु वास्तुविद से प्राप्त प्र्रस्तावों के आधार पर इससे संबंधित डी.पी.आर. लोक निर्माण विभाग, रायपुर को अग्रिम कार्यवाही हेतु रू. 48.60 करोड़ का अनुमानिक प्रेषित किया गया था। लोक निर्माण विभाग, रायपुर द्वारा परीक्षण उपरांत 48.26 करोड़ रूपये का संशोधित डी.पी.आर. प्राप्त हो गया है जिसे स्वीकृति हेतु शीघ्र भेजा जा रहा है।
  2. गजेटियर - छत्तीसगढ़ जिला गजेटियर लेखन एवं प्रकाशन समिति के माध्यम से छत्तीसगढ़ के 27 जिलों के गजेटियर तैयार कराने के लिये कार्यवाही आरंभ की गई है। साथ ही मध्यप्रदेश में प्रकाशित छत्तीसगढ़ के पुराने जिला गजेटियरों को वेब पर अपलोड करने की कार्यवाही की जा रही है।
  3. ग्रंथालय - संस्कृति विभाग के अंतर्गत संचालित 'महंत सर्वेश्वरदास पुस्तकालय' को राज्य केन्द्रीय ग्रंथालय का दर्जा दिया गया है। इसे ई-लाईब्रेरी के रूप में विकसित किया जा रहा है। इस क्रम में उन्नत एवं आधुनिक सुविधा के लिए 'लिबसिस साफ्टवेयर' युक्त कम्प्युटरीकृत सुविधा शीघ्र आरंभ कराने की योजना है। पुस्तकालय में छत्तीसगढ़ राज्य से संबंधित जानकारी के लिए अलग कक्ष का निर्माण किए जाने की योजना है। इस ग्रंथालय में इतिहास, पुरातत्व, नृतत्व शास्त्र, लोक प्रद्गाासन, हिन्दी साहित्य, पत्रकारिता, पर्यटन एवं कम्प्यूटर आदि के अतिरिक्त हिन्दी, अंग्रेजी तथा संस्कृत साहित्य से संबंधित ग्रंथ तथा गजेटियर उपलब्ध हैं ग्रंथालय में प्रतियोगी परीक्षाओं के छात्र-छात्राओं के अध्ययन हेतु पृथक से अध्ययन कक्ष की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। ग्रंथालय हेतु इस वर्ष इतिहास, पुरातत्व, नृतत्व शास्त्र, लोक प्रद्गाासन, हिन्दी साहित्य, पत्रकारिता, पर्यटन एवं कम्प्यूटर पुस्तके क्रय की जावेगी।
  4. छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग, रायपुर - छत्तीसगढ़ी को राज्य की राजभाषा का दर्जा प्रदान कर छत्तीसगढ़ी के प्रचलन, विकास एवं राजकीय कार्यों में उपयोग हेतु समस्त उपाय करने के उद्‌देश्य से राज्य सरकार द्वारा ''छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग'' की स्थापना की गई है, जो राज्य की प्रमुख उपलब्धियों में सम्मिलित है। छत्तीसगढ़ी और सरगुजिया के बीच अंतर संबंध विषय पर अंबिकापुर में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इसी प्रकार 'माई कोठी' योजना के अन्तर्गत छत्तीसगढ़ एवं छत्तीसगढ़ी में लिखे साहित्य का संकलन किया जा रहा है। राजभाषा आयोग द्वारा बहुभाषीय छत्तीसगढ़ी प्रशासकीय शब्दकोश भाग 1 एवं भाग 2 का भी प्रकाशन कराया गया है।
  5. विवेकानन्द विश्व प्रबुद्ध संस्थान,रायपुर - स्वामी विवेकानन्द जी ने कोलकाता के पश्चात्‌ अपने जीवन का सर्वाधिक समय रायपुर में व्यतीत किया। उनके जीवन काल को स्मरणीय बनाने हेतु शासन द्वारा विवेकानन्द प्रबुद्ध विश्व संस्थान की स्थापना की गई है, जिसके अन्तर्गत स्वामी जी के विचारों के अनुकूल अंतर्राष्ट्रीय संबंध, भारत दर्शन, प्रबंधशास्त्र, युवा कल्याण एवं ग्रामीण विकास जैसे विषयों पर अध्ययन एवं शोध कार्य संचालित किए जायेंगे। इस दिशा में कार्यवाही की जा रही है।
  6. पदुमलाल पुन्नालाल बखशी सृजनपीठ, भिलाई - छत्तीसगढ़ शासन, संस्कृति विभाग के अन्तर्गत डॉ. पदुमलाल पुन्नालाल बखशी जी की पावन स्मृति में साहित्यिक संस्था सृजनपीठ कार्यरत है। इस संस्थान ने अपनी राष्ट्रीय गतिविधियों से अब पूरे देशभर के साहित्यकारों में अपनी पहचान और सम्मान जनक स्थान बना लिया है।
  7. छत्तीसगढ़ सिन्धी साहित्य संस्थान- छत्तीसगढ़ शासन, संस्कृति विभाग द्वारा संचालित छत्तीसगढ़ सिन्धी साहित्य संस्थान द्वारा अब तक लगभग 35 गतिविधियों/कार्यक्रमों का आयोजन किया जा चुका है। संस्थान द्वारा बच्चों को सिन्धी भाषा की शिक्षा देने हेतु रायपुर के विभिन्न सिन्धी बाहुल्य क्षेत्रों में तीन केन्द्र, वहां की पूज्य सिन्धी पंचायतों के सहयोग से संचालित हैं। संस्थान द्वारा सिन्धी भाषा एवं संस्कृति के उत्थान हेतु विभिन्न क्रियाकलाप समय-समय पर शासन के सहयोग से संचालित किए जाते रहे हैं।

2.5 लोक प्राधिकरण के मुखय कृत्य -

  1. पुरातत्वीय महत्व के स्मारकों का संरक्षण, अनुरक्षण, रसायनिक संरक्षण, उत्खनन एवं सर्वेक्षण।
  2. गणतंत्र दिवस का आयोजन, स्वतंत्रता दिवस के पर्व पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन, राज्योत्सव एवं अलंकरणात्मक समारोह का आयोजन राजिम महोत्सव, आकार, शिल्प पर आधारित आकार कार्यशालाओं का आयोजन। चक्रधर समारोह,बिलासा समारोह, मल्हार उत्सव, जाजल्लदेव उत्सव, बखशी सृजन पीठ आदि कार्यक्रमों के आयोजन के लिए अनुदान उपलब्ध करवाना। अर्थाभावग्रस्त साहित्यकारों को अनुदान उपलब्ध कराना तथा साहित्यकार एंव लेखकों को प्रकाशन के लए अनुदान उपलब्ध करवाना।
  3. राज्य के विभिन्न जिलों में ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक महत्व के अभिलेखों का अन्वेषण एवं संकलन।

2.6 लोक प्राधिकरण द्वारा प्रदत्त सेवाओं की सूची एवं उनका संक्षिप्त विवरण -

  1. संग्रहालयों में मार्गदर्शक की सेवाऍं उपलब्ध करवायी जा रही है।

2.7 लोक प्राधिकरण के विभिन्न स्तरों (शासन, निदेशालय, क्षेत्र, जिला, ब्लाक आदि) पर संगठनात्मक ढांचा (जहॉं लागू हो) -

  1. शासन स्तर पर - अपर मुखय सचिव एवं विशेष सचिव
  2. संचालनालय स्तर पर - संचालक - सेट अप
  3. प्रादेशिक स्तर पर संग्रहालय -सेट अप
  4. जिला स्तर पर मात्र दो जिले बिलासपुर एवं जगदलपुर में विभागीय कार्यालय स्थापित हैं - सेट अप

2.8 लोक प्राधिकरण की कार्यदक्षता बढ़ाते हुए जनसहयोग की अपेक्षाएँ -
संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग की कार्यदक्षता में सहयोग तथा जन भागीदारी हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में बिखरी हुई कलाकृतियों, पुरावशेषों तथा स्मारकों की देखरेख हेतु मुखय रूप से ग्राम पंचायतों की भूमिका महत्वपूर्ण है। संविधान के 73 वें संशोधन तथा पॉंचवी अनुसूची में अनुसूचित क्षेत्रों मे ग्राम सभा के अधिकारों के अंतर्गत सांस्कृतिक विरासतों की सुरक्षा तथा देखरेख के लिए ग्राम सभा अधिकृत किया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश ग्रामों को तालाबों के मेड़ पर, पूजित छोटे-छोटे मढ़ियों में पुरावशेष रखे हुए मिलते हैं । संस्कृति विभाग के पास पर्याप्त अमला नहीं होने से ग्राम पंचायतों का सहयोग अपेक्षित है।

2.9 जन सहयोग सुनिश्चित करने के लिए विधि/व्यवस्था -
संस्कृति विभाग के क्रियाकलापों में जन सहयोग निश्चित करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्यक्ष संपर्क के साथ-साथ संस्कृति मूलक कार्यक्रमों के आयोजन के लिए प्राप्त आवेदनों पर विचार कर संस्थाओं को अनुदान दिया जाता है। छत्तीसगढ़ के अधिकांश लोक कलाकारों की सूची तैयार की जाकर प्रमाण पत्र भी वितरित किया गया है।

2.10 जन सेवाओं के अनुश्रवण एवं शिकायतों के निराकरण की व्यवस्था -
संस्कृति विभाग प्रत्यक्ष रूप से जनसेवाओं से संबंधित नही है। अनुदान एवं अन्य कार्यों के लिए प्राप्त आवेदनों के नियमानुकूल गुणवत्ता तथा आवश्यकता के अनुरूप कार्यवाही प्रस्तावित की जाती है। शिकायतों का परीक्षण किया जाकर नियमानुकूल कार्यवाही का प्रावधान है।

2.11 मुख्य कार्यालय तथा विभिन्न स्तरों पर कार्यालय के पते (जिलावार वर्गीकरण करें)-
संचालनालय संस्कृति एवं पुरातत्व के अंतर्गत राज्य में निम्नलिखित कार्यालय स्थापित है। -

  1. संचालनालय संस्कृति एवं पुरातत्व, महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय, राजभवन के पास, रायपुर (छ.ग.) 492001
  2. महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय, राजभवन के पास, रायपुर (छ.ग.) 492001
  3. संग्रहाध्यक्ष, जिला पुरातत्व संग्रहालय बिलासपुर, मुंगेली नाका, कमिशनर कार्यालय के सामने, पोस्ट - बिलासपुर (छ.ग.) 495001
  4. संग्रहाध्यक्ष, जिला पुरातत्व संग्रहालय जगदलपुर, सिरासार चौक, जगदलपुर जिला बस्तर, पोस्ट - जगदलपुर (छ.ग.) 494001
  5. गजेटियरए राजभवन के पास, रायपुर (छ.ग.) 492001
  6. छत्तीसगढ़ सिन्धी साहित्य संस्थान, रूम नं. 210, डॉल्फिन चेम्बर, होटल पुनीत इंटरनेशनल, पंडरी कपड़ा मार्केट, रायपुर, छ.ग.
  7. पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी सृजनपीठ, 4 बी 33, सेक्टर 9, भिलाई (छ. ग.)
  8. विवेकानन्द प्रबुद्ध संस्थान, शहीद स्मारक भवन, रायपुर (छ.ग.)
  9. महंत सर्वेश्वरदास ग्रंथालय, शहीद स्मारक भवन, रायपुर (छ.ग.)

2.12 कार्यालय के खुलने का समय -
शासन द्वारा घोषित राजपत्रित एवं अन्य शासकीय अवकाशों के दिवसों को छोड़कर कार्यालय खुलने का समय 10.30 बजे पूर्वान्ह निर्धारित है। संग्रहालयों के लिए अवकाश निम्नानुसार है - प्रति सोमवार एवं शासन द्वारा घोषितअन्य राजपत्रित अवकाशों को छोड़कर संग्रहालय खुलने का समय प्रतिदिन 10 बजे पूर्वान्ह निर्धारित है।

अधिकारियों और कर्मचारियों की शक्तियॉं एवं कर्तव्य

पद का नाम - संचालक संस्कृति एवं पुरातत्व
शक्तियॉं -

प्रशासकीय -

  1. नियुक्ति संबंधी - आयुक्त/विभागाध्यक्ष को चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों/तकनीकी कर्मचारियों को नियुक्ति संबंधी पूर्ण शक्तियॉं प्राप्त हैं।
    C.C.A. Rules or M.P.Civil Services (Classification and Appeal) Rules, 1966 सी.सी.ए.रूल्स, नियम 12 एवं 13 के तहत तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के मामलों के लिए विभाग प्रमुख/आयुक्त को नियुक्ति के अधिकार प्रदान किये गये हैं।
  2. पदस्थापना एवं स्थानांतर संबंधी - इसी तरह चतुर्थ एवं तृतीय वर्ग के कर्मचारियों/तकनीकी कर्मचारियों के पदस्थापना एवं स्थानांतरण संबंधी पूर्ण शक्ति विभाग प्रमुख को है।
  3. अनुरक्षण संबंधी - अनुरक्षण एवं निर्माण कार्य के लिए रूपये 10.00 लाख तक की प्रशासकीय स्वीकृति ।
  4. विभागीय जॉंच एवं दण्डात्मक शक्ति- विभाग प्रमुख/आयुक्त सक्षम पदाधिकारी है और सी.सी.ए. रूल्स के प्रावधान के तहत नियोक्ता अधिकारी ही विभागीय जॉंच करने एवं दण्डित करने के लिए सक्षम अधिकारी होता है। अतः चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी के अधिकारियों को विभागीय जॉंच करने के एवं दण्ड देने संबंधी शक्तियॉं केवल विभाग प्रमुख के पास है।
  5. अवकाश संबंधी शक्तियॉं - निम्न दर्शाये अनुसार है।
अवकाश संबंधी शक्तियॉं श्रेणी/संवर्ग का नाम अवकाश का प्रकार विभाग प्रमुख (संचालक/आयुक्त)
चतुर्थ श्रेणी संग्रहालय/स्मारकों आकस्मिक
कर्मचारियों के लिएकार्यालयीन कर्मचारियों के लिए
तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के लिए अर्जित
तृतीय श्रेणी (कार्यपालिक) अधिकारियों के लिए अर्जित एक बार में 90 दिन
अर्द्ध वैतनिक एक बार में 120 दिन
लघुकृत एक बार में 180 दिन
अदेय एक बार में 90 दिन
असाधारण एक बार में 120 दिन
सेवानिवृत्ति पूर्व पूर्ण अधिकार
द्वितीय श्रेणी अधिकारियों के लिए अर्जित एक बार में 120 दिन
अर्द्धवैतनिक एक बार में 180 दिन
लघुकृत एक बार में 90 दिन
सेवानिवृत्ति पूर्व पूर्ण अधिकार
प्रथम श्रेणी अधिकारियों के लिए अर्जित एक बार में 90 दिन
अर्द्धवैतनिक एक बार में 60 दिन
लघुकृत एक बार में 30 दिन
सभी श्रेणियों के लिए प्रसूति अवकाश -

संस्कृति विभाग
आयुक्त, पुरातत्व पुरालेख एवं संग्रहालय के संबंध में वित्तीय शक्ति
(1) (2) (3) (4) (5)
1 स्वायत्त स्वायत्त निकायों जैसे जिला पुरातत्वीय संघ इत्यादि को सहायक अनुदान की मंजूरी तथा सहायक अनुदान देयकों पर प्रतिहस्ताक्षर, वित्तीय विवरणियों की जाँच, अधिक भुगतान का वसूली आदेश, यदि कोई हो तथा अनुदान के भुगतान को अस्थाई रुप से रोकना या निलंबित करना आयुक्त पूर्ण शक्तियाँ 1. विभाग के सहायक अनुदान नियमों के अधीन ।
2. बशर्ते पूर्व वर्ष का उपयोगिता प्रमाण-पत्र महालेखाकार छत्तीसगढ़/विभाग प्रमुख को प्रस्तुत किया जा चुका है ।
3. बशर्ते कि पूर्व वर्ष का परीक्षित लेखा प्रस्तुत किया जा चुका है ।
2 विज्ञापनों पर खर्च की मंजूरी 1.आयुत
2 कार्यालय प्रमुख
पूर्ण शक्तियाँ
प्रत्येक प्रकरण में रु. 500 तक
3 अशासकीय प्रकाशनों के क्रय पर खर्च की मंजूरी 1.आयुक्त
2. कार्यालय प्रमुख

पूर्ण शक्तियाँ
प्रत्येक प्रकरण में रु. 1,000 तक
4 पुरातत्वीय स्मारकों के संरक्षण कार्यों हेतु वित्तीय, प्रशासकीय एवं तकनीकी मंजूरी देना 1.प्रशासकीय विभाग
2. आयुक्त

पूर्ण शक्तियाँ
प्रत्येक प्रकरण में रु. 10 लाख तक
5. संरक्षण कार्यों तथा लघु संधारण के कार्यों को प्रशासकीय एवं तकनीकी अनुमोदन देना

आयुक्त पूर्ण शक्तियाँ
6. कला उद्देश्यों एवं पुरातन वस्तुओं के कार्यों के संरक्षण पर खर्च की मंजूरी

1.प्रशासकीय विभाग
2. आयुक्त
पूर्ण शक्तियाँ प्रत्येक प्रकरण में रु. 1 लाख तक
7. उत्खनन, खोज एवं पुरातन वस्तुओं का संग्रहण हेतु वित्तीय मंजूरी देना

1. प्रशासकीय विभाग
2. आयुक्त
3. क्षेत्रीय उप संचालक
4. कार्यालय प्रमुख
पूर्ण शक्तियाँ प्रत्येक प्रकरण में रु. 1 लाख तक
प्रत्येक प्रकरण में रु. 15,000 तक
प्रत्येक प्रकरण में रु. 10,000 तक
8. उत्खनन, खोज एवं पुरातन वस्तुओं का संग्रहण (रासायनिक संरक्षण) तथा दीमकरोधी कार्यों हेतु वित्तीय मंजूरी देना

1.प्रशासकीय विभाग
2. आयुक्त
3. उप संचालक

पूर्ण शक्तियाँ

प्रत्येक प्रकरण में रु.5 लाख तक
प्रत्येक प्रकरण में रु.15,000 तक

9. प्रदर्श कार्य विद्युतिकरण, संग्रहालयों तथा स्मारकों में बगीचों का संधारण की वित्तीय मंजूरी देना

1. प्रशासकीय विभाग
2. आयुक्त
3. उप संचालक
4. कार्यालय प्रमुख

पूर्ण शक्तियाँ
प्रत्येक प्रकरण में रु.5 लाख तक
प्रत्येक प्रकरण में रु.50,000 तक
प्रत्येक प्रकरण में रु.25,000 तक

10. (1) संग्रहालयों तथा स्मारकों में संधारण तथा अतिरिक्त निर्माण कार्य पर खर्च करने हेतु वित्तीय मंजूरी देना (एम.ओ.डब्ल्य.)

1. आयुक्त
2. उप संचालक
3. कार्यालय प्रमुख

पूर्ण शक्तियाँ
प्रत्येक प्रकरण में रु.50,000 तक
प्रत्येक प्रकरण में रु.25,000 लाख तक

(2) रनिंग बिलों को पारित करना

समस्त अधिकारी जो प्रशासकीय अनुमोदन देने हेतु सक्षम है एक समय में स्वीकृत राशि का 25 प्रतिशत तक

(3) अंतिम बिलों को पारित करना

आयुक्त पूर्ण शक्तियां बशर्ते माप माप पुस्तक में अंकित किया गया है तथा सहायक यंत्री के पद से कम नहीं तकनीकी अधिकारी द्वारा जाँचा तथा सत्यापित किया गया हो ।

(4) उसके निष्पादन के दौरान निर्माण में कार्य के विवरण को संशोधित करने की मंजूरी

1. आयुक्त
2. उप संचालक
3. कार्यालय प्रमुख

पूर्ण शक्तियाँ

वैयक्तिक मदों में 25 प्रतिशत तक

वैयक्तिक मदों में 10 प्रतिशत तक

(5) लोक निर्माण विभाग, एस.ओ.आर./प्रचलित दरों की अनुसूची से अधिक दरें निर्धारित करने की शक्ति

1. आयुक्त
2. उप संचालक
3. कार्यालय प्रमुख

पूर्ण शक्तियाँ

30 प्रतिशत तक

20 प्रतिशत तक

(6) लघु शीर्ष सिविल वर्क के अधीन स्टॉक की हानियों हेतु प्राक्कलन को मंजूरी देना

आयुक्त प्रत्येक प्रकरण में रु.50,000 तक पूर्ण औचित्य के अनुसार ।

(7) कार्य स्थल पर सामग्रियों/विघटित कार्य सहित निष्प्रयोज्य भण्डारों के निराकरण हेतु आदेश जारी करना तथा उनके अपलेखन की मंजूरी

1. उप संचालक
2. कार्यालय प्रमुख
प्रत्येक प्रकरण में रु.15,000 तक
प्रत्येक प्रकरण में रु.5,000 तक
पूर्ण औचित्य के साथ ।

(8) विभागीय आधार पर कार्यों के निष्पादन के लिए अधीनस्थों को अग्रिम मंजूर करने की शक्ति

1. आयुक्त
2. उप संचालक
3. कार्यालय प्रमुख
प्रत्येक प्रकरण में रु.50,000 तक

प्रत्येक प्रकरण में रु.15,000 तक

प्रत्येक प्रकरण में रु.10,000 तक

(9) माप पुस्तिका के अपलेखन की शक्ति

आयुक्त पूर्ण शक्तियाँ कार्य विभाग मेन्युअल में उल्लेखित शर्तों के अधीन ।
11 छपाई, प्रकाशन तथा संबंधित कार्य पर खर्च की मंजूरी

1. आयुक्त
2. उप संचालक
3. कार्यालय प्रमुख

पूर्ण शक्तियाँ
पूर्ण शक्तियाँ
पूर्ण शक्तियाँ

12. कला उद्देश्यों तथा पुरातन सामाग्रियों के क्रय पर खर्च की मंजूरी

1. प्रशासकीय विभाग
2. आयुक्त

पूर्ण शक्तियाँ
विशेषज्ञ समिति की अनुशंसा पर ।

प्रत्येक मामले में रु.5 लाख तक
13 जलपान तथा भोजन खर्च सहित विभागीय क्रियाकलापों पर खर्च की मंजूरी

1. आयुक्त
2. उप संचालक

पूर्ण शक्तियाँ
प्रत्येक प्रकरण में रु.10,000 तक

शासन के समय-समय पर जारी मितव्ययिता उपायों के अधीन ।
14. फोटोग्राफी तथा संबंधित उपभोग्य मदों के क्रय पर खर्च की मंजूरी

1. आयुक्त
2. उप संचालक

पूर्ण शक्तियाँ
प्रत्येक प्रकरण में रु.25,000 तक

15. मानदेय मंजूरी की शक्ति आयुक्त पूर्ण शक्तियां इस संबंध में निर्मित नियमो के अधीन
16 संग्रहालय/स्मारकों के संधारण पर खर्च की शक

आयुक्त पूर्ण शक्तियां
17. किसी व्याक्ति को ईनाम मंजूर करने की शक्ति जसने पुरातत्वीय गतिविधियों में सहयोग/विशेष सेवायें दी है

आयुक्त प्रत्येक प्रकरण10000 तक इस संबंध में नियमों के अनुसार
18. क. निविदाएं ठेकों तथा अनुबंधों को स्वीकार करने की शक्ति

1. प्रशासकीय विभाग
2. आयुक्त
3. उप संचालक

पूर्ण शाक्तियां
प्रत्येक प्रकरण में रू50,000
तक प्रत्येक प्रकरण में रू10,000 तक

ख. कार्य का निष्पादन बिना निविदाएं आमंत्रित किए ग्राम पंचायतों के मार्फत सामान की आपूर्ति की मंजूरी की शक्ति

कार्यालय प्रमुख रू 5,000तक वार्षिक
19.

अनावर्ती आकस्मिक खर्च की मंजूरी (कही भी आच्छादित न हो प्रत्येक प्रकरण में रू कंडीशनर्स कम्प्युटर तथा पेरीफेरल्स सम्मिलित हो)

1. आय
2. उप संचालकुक्त
पूर्ण शक्तियां10,000तक इसमें फर्नीचर रूम कूलर बाटर कूलर एयर
20

. विभागीय प्रकाशनों विभाग द्वारा तैयार लेखों के विक्रय मूल्य का निर्धारण

आयुक्त पूर्ण शक्तियां
21.

(क) लेख/प्रकाशन/उत्पादन के विक्रय मुल्य को घटाना तथा विभागीय केन्द्रो से विक्रय

आयुक्त विक्रय मुल्य का 30 प्रतीशत बशर्ते कि घटाने/कमीशन हेतु औचित्य अंकित किया जाए।

(ख) स्टाँकिस्ट, एजेन्ट तथा बेचने वालों को लेख, प्रकाशन के विक्रय पर कमीशन देना

आयुक्त पूर्ण शक्तियाँ इस बाबत नियमों के अनुसार ।
22.

प्रकाशकों, लेखकों, रचयिता/अंशदाता इत्यादि को विभागीय प्रकाशन की निःशुल्क प्रतियोंका प्रदाय

आयुक पूर्ण शक्तियाँ ठेके के अनुबंध के अनुसार ।
23.

विभागीय उत्पादित कल्पना जैसे प्लास्टर/फाइबर/ढलवा बोनचाइना इत्यादि बढ़ाने तथा प्रचारके उद्देश्य हेतु संपूरक उपहार देना

आयुक्त वार्षिक उत्पादन का 10%
24.

अन्य शासकीय अभिकरणों तथा एंसे पंजीकृत अशासकीय संगठनों जैसे प्रदुषण सुरक्षा, नियंत्रण संगठन, INTACH इत्यादि जिनकी गतीविधियाँ सीधे विभागीय गतिविधियों पर धारित हैं, व्दारा निष्पादन हेतु विभागीय कार्यों की मंजूरी

1.प्रशासकीय विभाग
2.आयुक्त

पूर्ण शक्तियाँ
प्रत्येक प्रकरण में रु.5 लाख तक

मंजूरी का पूर्ण औचित्य अंकित किया जाए।
संचालनालय राजभाषा एवं संस्कृति के संबंध में वित्तीय शक्ति
1

पूर्ण निधि वाले स्वायत निगमों,अशासकीय संगठनों तथा स्वैच्छिक अभिकरणों को सहायक अनुदान की मंजूरी

संचालक पूर्ण शक्तियाँ

1. विभाग के सहायक अनुदान नियमों के अधीन ।

2. बशर्ते पिछले वर्ष का उपयोगिता प्रमाण-पत्र महालेखाकार, छ.ग./विभाग प्रमुख को प्रेषित किया गया है।

3. बशर्ते कि पिछले वर्ष का परीक्षित लेखा प्रस्तुत किया गया है

2 अधिक भुगतान का वसुली आदेश तथा अनुदान के भुगतान को रोकना या निलंबित करना संचालक पूर्ण शक्तियां विभाग के सहायक अनुदान नियमों के अधीन ।
3

सहायक अनुदान देयकों पर प्रतिहस्ताक्षर करने की शक्ति

1.संचालक

2.संयुक्त संचालक

पूर्ण शक्तियाँ

रु. एक लाख तक

4

विज्ञापनों पर खर्च की मंजूरी

संचालक पूर्ण शक्तियाँ
5

अशासकीय प्रकाशन क्रय पर खर्च की मजूरी

संचालक पूर्ण शक्तियाँ
6

फोल्डर के मुद्रण पर खर्च की मंजूरी

संचालक पू्र्ण शक्तियाँ
7

जलपान तथा लंच/डिनर सहित शासकीय कृत्यों के आयोजनों पर खर्च की मजूरी

संचालक पूर्ण शक्तियाँ
8 जूरी सदस्यों पर खर्च की मंजूरी संचालक पूर्ण शक्तियाँ
9

अनुबंध आधार पर अनुवाद कार्य की मंजूरी

संचालक पूर्ण शक्तियाँ जब तक इस बाबत नियम नहीं बन जाते, शासन की अनुमति के अधीन।
10 छात्रवृत्तियाँ तथा अधिसदस्यता की मंजूरी संचालक पूर्ण शक्तियाँ इस बाबत् निर्मित नियमों के अधीन।
11 ठेके पर गजेटियरका बनवाना तथा उसे अद्यतन करवाने की मंजूरी प्रशासकीय विभाग पूर्ण शक्तियाँ
12 बगीचों के संधारण का ठेका संचालक पूर्ण शक्तियाँ
13 सांस्कृतिक हॉल/प्रेक्षागृहका आरक्षण/किराये पर देना तथा किराये का निर्धारण एवं अन्य प्रभार प्रशासकीय विभाग पूर्ण शक्तियाँ इस बाबत् निर्मित नियमों के अधीन।
14 कांफ्रेंस हॉल/प्रेक्षागृह हेतु मंच, साउण्ड,लाइट, उपकरण इत्यादि का क्रय 1. प्रशासकीय विभाग
2. संचालक
पूर्ण शक्तियाँ
रु.एक लाख तक

अन्य - 1. विभागीय शक्तियां अधिरोपण एवं निराकरण। कर्तव्य - राज्य की संस्कृति एवं पुरातत्व से संबंधित समस्त कार्यों एवं गतिविधियों तथा अधिकारी एवं कर्मचारियों पर प्रशासकीय नियंत्रण। संयुक्त संचालक, संचालनालय राजभाषा एवं संस्कृति के संबंध में वित्तीय शक्ति

क्र. विवरण अधिकारों का प्रत्यावर्तन
1 सहायक अनुदान देयकों पर प्रतिहस्ताक्षर करने की शक्ति रू. एक लाख तक

पद का नाम - संयुक्त संचालक
शक्तियॉ -
प्रशासकीय - निर्धारित की जा रही है।
वित्तीय - निर्धारित की जा रही है।
कर्तव्य -

  1. पुरातत्वीय एवं संग्रहालयीन गतिविधियों का प्रचार-प्रसार कराना।
  2. उत्खनन, सर्वेक्षण/समन्वेषण आदि गतिविधियों को संचालित करना/कराना।
  3. आयुक्त द्वारा आदेशित विभाग से संबंधित समस्त गतिविधियों के क्रियान्वयन में समन्वय स्थापित करना।

पद का नाम - क्षेत्रीय उपसंचालक / उप संचालक
शक्तियॉ -
प्रशासकीय -

  1. चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों को वार्षिक वेतनवृद्धि स्वीकृत करने का अधिकार।
  2. चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों के आकस्मिक अवकाश के संबंध में पूर्ण शक्ति।
  3. चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों के 90 दिन तक अर्जित अवकाश स्वीकृत करने का अधिकार।
  4. चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों के गोपनीय चरित्रावली में नियंत्रण अधिकारी के अभिमत पर मतांकन का अधिकार।

वित्तीय -क्षेत्रीय उप संचालक / उप संचालक के वित्तीय अधिकार

क्र. विवरण अधिकारों का प्रत्यावर्तन
1 उत्खनन, खोज एवं पुरातन वस्तुओं का संग्रहण हेतु वित्तीय मंजूरीदेना। प्रत्येक प्रकरण में रू. 15,000/- तक
2 उत्खनन, खोज एवं पुरातन वस्तुओं का संग्रहण (रासायनिक संरक्षण) तथा दीमकरोधी कार्यों हेतु वित्तीय मंजूरी देना। प्रत्येक प्रकरण में रू. 15,000/- तक
3 प्रदर्श कार्य, विद्युतीकरण, संग्रहालयों तथा स्मारकों में बगीचोंका संधारण की वित्तीय मंजूरी देना। प्रत्येक प्रकरण में रू. 50,000/- तक
4 (1) संग्रहालयों तथा स्मारकों में संधारण तथा अतिरिक्त निर्माणकार्य पर खर्च करने हेतु वित्तीय मंजूरी देना (एम.ओ.डब्ल्यू) । प्रत्येक प्रकरण में रू. 50,000/- तक
(2) रनिंग बिलों को पारित करना। एक समय में स्वीकृत राशि का 25 प्रतिशत
(3) उसके निष्पादन के दौरान निर्माण कार्य के विवरण को संशोधितकरने की मंजूरी। वैयक्तिक मदों में 25 प्रतिशत तक
(4) लोक निर्माण विभाग, ए.ओ.आर./प्रचलित दरों की अनुसूची सेअधिक दरें निर्धारित करने की शक्ति। 30 प्रतिशत तक
(5) कार्य स्थल पर सामग्रियों/विघटित कार्य सहित निष्प्रयोज्यभण्डारों के निराकरण हेतु आदेश जारी करना तथा उनके अपलेखन की मंजूरी। प्रत्येक प्रकरण में रू. 15,000/- तक
(6) विभागीय आधार पर कार्यों के निष्पादन के लिए अधीनस्थों कोअग्रिम मंजूर करने की शक्ति । प्रत्येक प्रकरण में रू. 15,000/- तक
5 छपाई, प्रकाशन तथा संबंधित कार्य पर खर्च की मंजूरी प्रत्येक प्रकरण में रू. 10,000/- तक
6 जलपान तथा भोजन खर्च सहित विभागीय क्रियाकलापों पर खर्च की मंजूरी प्रत्येक प्रकरण में रू. 20,000/- तक
7 फोटोग्राफी तथा संबंधित उपयोग मदों के क्रय पर खर्च की मंजूरी प्रत्येक प्रकरण में रू. 25,000/- तक
8 निविदाऍं, ठेकों तथा अनुबंधों को स्वीकार करने की शक्ति प्रत्येक प्रकरण में रू. 10,000/- तक
9 अनावर्ती आकस्मिक खर्च की मंजूरी, कहीं भी आच्छादित न हो प्रत्येक प्रकरण में रू. 10,000/- तक

शक्तियॉ -

  1. अपने कार्यक्षेत्र में प्रशासकीय नियंत्रण रखना।
  2. प्रशासकीय एवं वित्तीय दायित्वों का निर्वहन करना।
  3. पुरातत्वीय एवं सांस्कृतिक गतिविधियों का प्रचार-प्रसार करना/कराना।
  4. निरीक्षण, उत्खनन, सर्वेक्षण, समन्वेषण, अनुरक्षण एवं संवर्द्धन आदि संपादित करना/कराना।
  5. संग्रहालयों का विकास, प्रदर्शन, सुरक्षा व्यवस्था आदि।

पद का नाम - संग्रहाध्यक्ष/पुरातत्ववेत्ता (कार्यालय प्रमुख)
शक्तियॉ -
प्रशासकीय -

  1. चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों को वार्षिक वेतनवृद्धि स्वीकृत करने का अधिकार।
  2. चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों के आकस्मिक अवकाश के संबंध में पूर्ण शक्ति।
  3. चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों के 30 दिन तक अर्जित अवकाश स्वीकृत करने का अधिकार
  4. चतुर्थ एवं तृतीय श्रेणी कर्मचारियों के गोपनीय चरित्रावली पर प्रथम अभिमत देने का अधिकार।

वित्तीय -संग्रहालय/पुरातत्ववेत्ता (कार्यालय प्रमुख) के वित्तीय अधिकार

क्र. विवरण अधिकारों का प्रत्यावर्तन
1 विज्ञापनों पर खर्च की मंजूरी प्रत्येक प्रकरण में रू. 500/- तक
2 अशासकीय प्रकाशनों के क्रय पर खर्च की मंजूरी प्रत्येक प्रकरण में रू. 1000/- तक
3 उत्खनन, खोज एवं पुरातन वस्तुओं का संग्रहण हेतु वित्तीय मंजूरीदेना प्रत्येक प्रकरण में रू. 10,000/- तकक
4 प्रदर्श कार्य, विद्युतीकरण, संग्रहालयों तथा स्मारकों में बगीचोंका संधारण की वित्तीय मंजूरी देना। प्रत्येक प्रकरण में रू. 25,000/- तक
5 (1) संग्रहालयों तथा स्मारकों में संधारण तथा अतिरिक्त निर्माणकार्य पर खर्च करने हेतु वित्तीय मंजूरी देना (एम.ओ.डब्ल्यू) । प्रत्येक प्रकरण में रू. 25,000/- तक
(2) उसके निष्पादन के दौरान निर्माण कार्य के विवरण को संशोधितकरने की मंजूरी वैयक्तिक मदों में 10 प्रतिशत तक
(3) लोक निर्माण विभाग, ए.ओ.आर./प्रचलित दरों की अनुसूची सेअधिक दरें निर्धारित करने की शक्ति। 20 प्रतिशत तक
(4) कार्य स्थल पर सामग्रियों/विघटित कार्य सहित निष्प्रयोज्यभण्डारों के निराकरण हेतु आदेश जारी करना तथा उनके अपलेखन की मंजूरी। प्रत्येक प्रकरण में रू. 5,000/- तक
(5) विभागीय आधार पर कार्यों के निष्पादन के लिए अधीनस्थों कोअग्रिम मंजूर करने की शक्ति । प्रत्येक प्रकरण में रू. 10,000/- तक
6 छपाई, प्रकाशन तथा संबंधित कार्य पर खर्च की मंजूरी पूर्ण शक्तियॉं
7 कार्य का निष्पादन, बिना निविदाऍं आमंत्रित किए ग्राम पंचायतोंके मार्फत सामान की आपूर्ति की मंजूरी की शक्ति प्रत्येक प्रकरण में रू. 5,000/- तक

शक्तियॉ -

  1. अपने कार्यालय एवं कार्यक्षेत्र के स्मारकों का संधारण एवं सुरक्षा व्यवस्था करना।
  2. संग्रहालयों की व्यवस्था, प्रदर्शन, संवर्द्धन एवं अन्य विकासात्मक कार्यों का संपादन।
  3. स्मारकों पर अनुरक्षण, जीर्णोंद्धार एवं विकासात्मक कार्यों का संपादन।
  4. पुरातत्वीय/विशिष्ट उद्‌देश्य से किये जाने वाले सर्वेक्षण कार्य/ समन्वेषण / उत्खनन कार्यों का संपादन ।

कार्यरत लिपिकीय एवं अलिपिकीय/तकनीकी कर्मचारियों की सूची एवं कर्तव्य
(मैनुअल-9)
(अधिकारियों और कर्मचारियों की निर्देशिका)
विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की निर्देशिका निम्नानुसार है :-
प्रथम श्रेणी राजपत्रित
क्र. स्वीकृत पद संख्या भरे पद रिक्त पद रिमार्क
1 10 06 04 02 पद संयुक्त संचालक के रिक्त है जो पदोन्नति से भरे जाने है प्रस्ताव प्रारूप में तैयार कर संचालक महोदय की ओर प्रस्तुत किया गया है। 02 पद उप संचालक के रिक्त है जो पदोन्नति से भरे जाने है इसका प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। (विस्तृत जानकारी परिद्गिाष्ट 1 में)

संचालनालय, संस्कृति एवं पुरातत्व हेतु स्वीकृत भरे/रिक्त पदों में से सीधी भर्ती/पदोन्नति के पदों की जानकारी

द्वितीय श्रेणी राजपत्रित -: पदों का विवरणः-
क्र. सीधी भर्ती पदनाम पद संख्या रिमार्क क्र. पदोन्नति पदनाम पद संख्या रिमार्क
1 प्रकाशन अधिकारी 01 1 सहायक संचालक 01
2 मुद्राशास्त्री 01 2 सहायक यंत्री 01
3 पुरातत्ववेत्ता 02 3 पुरालेख अधिकारी 01
4 पुरातत्वीय अधिकारी 01 प्र.नि. से भरा है। 4 संग्रहाध्यक्ष 02
5 पुरालेखवेत्ता 01 योगः- 05
6 संग्रहाध्यक्ष 03
7 संरक्षण अधिकारी 01
योगः- 10
तृतीय श्रेणी अलिपिकीय/लिपिकीय :-
क्र. स्वीकृत पद संख्या भरे पद रिक्त पद रिमार्क
108 82 26
  • 01 पद कनिष्ठ लेखाधिकारी (वित्त)प्रतिनियुक्तिसेभराजायेगा।
  • 09पदपदोन्नतिसेभरेजानेकीकार्यवाहीकीजानाहै।
16 पद सीधी भर्ती के हैं जिन्हें भरे जाने है। (विस्तृत जानकारी परिद्गिाष्ट 3 में)
-: पदों का विवरणः-
क्र. सीधी भर्ती पदनाम पद संख्या रिमार्क क्र. पदोन्नति पदनाम पद संख्या रिमार्क
1 अनुदेशक 01 1 अधीक्षक 01
2 कनिष्ठ लेखाधिकारी 01 प्र.नि. (वित्त) 2 कलाकार 00 अप्रैल 2013 में से.नि.से 01 पद रिक्त हो गया है।
3 सहायक ग्रंथपाल 01 3 सहायक कलाकार 01
4 सहायक अभियंता 01 4 रसायनज्ञ 01
5 सहायक पुरालेखपाल 01 5 सहायक वर्ग-1 01
6 सहायक रसायनज्ञ 01 6 सहायक वर्ग-2 02
7 सर्वेयर 01 7 स्टेनोग्राफर-3 01
8 कनिष्ठ मार्गदर्शक 01 8 वरिष्ठ मार्गदर्शक 02
9 स्वागतकर्ता 01 9
10 सहायक उद्यान वि.अ. 01 योगः- 09
11 सहायक वर्ग-3 07
योगः- 17
चतुर्थ श्रेणी :-
क्र स्वीकृत पद संख्या भरे पद रिक्त पद रिमार्क
40 18 22
  • 04 संग्रहालय राजनांदगांव, रायगढ़, जांजगीर-चांपा एवं अंबिकापुर संग्रहालय भवन अस्तित्व में नहीं होने के करण इनके स्वीकृत 12 चतुर्थ श्रेणी के पद फिलहाल भरने की कार्यवाही नहीं की गई हैं।
  • 10 चतुर्थ श्रेणी के सीधी भर्ती से भरे जाने है। (विस्तृत जानकारी परिद्गिाष्ट 4 में)
-:: प्रथम श्रेणी ::-
क्र. पद नाम श्रेणी वेतनमान स्वीकृत पद

भरे पद

रिक्त पद

अधिकारी/कर्मचारियों का नाम

पु पु पु पु
प्रथम श्रेणी
1 संचालक प्रथम भारतीय प्रशासनिक सेवा 01 01 00 श्री के.डी.पी.रॉव (प्रतिनियुक्ति) 1 - - - - - - - 0
2 संयुक्त संचालक प्रथम 15600-39100 02 00 02 रिक्त 2 पद (पदो.) 2
3 उपसंचालक प्रथम 15600-39100 06 04 02 1- श्री आर.के.सिंह (पदो.) 1 - - - - - - - 0
2-श्री एस.बी.सतपाल (संविदा) - - - - 1 - - - 0
3-श्री एस.एस.सी. केरकेट्‌टा (पदो.) - - - - - - 1 - 0
4-श्री जे.आर.भगत (पदो.) - - - - - - 1 - 0
रिक्त 2 पद (पदो.) 2
4 उप संचालक (वित्त) प्रथम 15600-39100 01 01 00 श्री सी.आर.साहनी (प्रतिनियुक्ति) (लेखाधिकारी के पद को अपग्रेड किये जाने के कारण) - - - - 1 - - - 0
10 06 04 2 0 0 2 0 2 0 04
योग 2 0 2 2

नोटः- प्रथम श्रेणी के स्वीकृत 10 पदों में से 06 पद भरे एवं 04 पद रिक्त है।
भरे पद :- सामान्य- 02 अपिव-00 अ.जा.-02 अ.ज.जा.-02 त्र 06
रिक्त पद सामान्य- 02 अपिव-01 अ.जा.-00 अ.ज.जा.-01 = 04

-:: द्वितीय श्रेणी ::-
क्र. पद नाम श्रेणी वेतनमान स्वीकृत पद भरे पद रिक्त पद अधिकारी/कर्मचारियों का नाम सामान्य अपिव अ.जा. अ.ज.जा रिमार्क
पु पु पु पु
1 सहा. संचालक द्वितीय 15600-39100 01 00 01 रिक्त-1पद (पदो.) 1
2 सहा. संचालक द्वितीय 9300-34800 01 01 00 श्री उमेश मिश्रा (राजभाषा में प्रति. पर पदस्थ) 1 - - - - - - - 0
3 प्रकाशन अधि. द्वितीय 15600-39100 01 00 01 रिक्त-1 पद (सी.भ.) 1
4 मुद्राशास्त्री द्वितीय 15600-39100 01 00 01 रिक्त-1 पद (सी.भ.) 1
5 पुरातत्ववेत्ता द्वितीय 15600-39100 02 00 02 रिक्त 2 पद (सी.भ.) 2
6 ग्रंथपाल द्वितीय 15600-39100 01 01 00 श्री जय मसीह तिग्गा (पदो.) - - - - - - 1 - 0
7 सहायक यंत्री द्वितीय 15600-39100 01 01 00 श्री टी.आर.रामटेके (प्रति.) 1 0
8 मुखय रसायनज्ञ द्वितीय 15600-39100 01 01 00 श्री के.पी.वर्मा (पदो.) - - 1 - - - - - 0
9 पुरातत्वीय अधि. द्वितीय 15600-39100 01 01 00 श्री शिवाकांत बाजपेयी (प्रति.) 1 - - - - - - - 0
10 पुरालेख अधिकारी द्वितीय 15600-39100 01 00 01 रिक्त-1 पद (पदो.) 1
11 पुरालेखवेत्ता द्वितीय 15600-39100 01 00 01 रिक्त-1 पद (सी.भ.) 1
12 संग्रहाध्यक्ष द्वितीय 15600-39100 07 02 05 1- श्री अमृतलाल पैकरा (जि.संग्र.रायपुर) (पदो.) - - - - - - 1 - 0
2- श्री डी.एस.ध्रुव (जि.संग्र.बिला.) (पदो.) - - - - - - 1 - 0
रिक्त-2 पद पदो. 3 पद सीधी भर्ती 5
13 संरक्षण अधि. द्वितीय 9300-34800 01 00 01 रिक्त-1 पद (सी.भ.) 1
योगः- 20 7 13 2 0 1 0 1 0 3 0 13
2 1 1 3

नोटः- द्वितीय श्रेणी के स्वीकृत 20 पदों में से 07 पद भरें एवं 13 पद रिक्त है।
भरे पद :- सामान्य- 02 अपिव-01 अ.जा.-01 अ.ज.जा.-03 = 07
रिक्त पद सामान्य-05 अपिव-03 अ.जा.-01 अ.ज.जा.-04 = 13

-:: तृतीय श्रेणी ::-
क्र. पद नाम श्रेणी वेतनमान स्वीकृत पद भरे पद रिक्त पद अधिकारी/कर्मचारियों का नाम सामान्य अपिव अ.जा. अ.ज.जा रिक्त
पु पु पु पु
1 सहा.पुरा.अधि. तृतीय 9300-34800 01 01 00 श्री एम.एस.अली (पदो.) 1 - - - - - - - 0
2 अधीक्षक तृतीय 9300-34800 01 00 01 रिक्त - - - - - - - - 1
3 अनुदेशक तृतीय 9300-34800 02 01 01 1-रिक्त (सी.भ.) 1
2-श्री सतीश कश्यप (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
4 कनिष्ठ लेखाधिकारी तृतीय 9300-34800 01 00 01 रिक्त- 1पद (प्रति.) - - - - - - - - 1
5 सहायक अधीक्षक तृतीय 9300-34800 01 01 00 श्री एम.एल.सोनी (पदो.) - - 1 - - - - - 0
6 सहायक ग्रंथपाल तृतीय 9300-34800 02 01 01 1- श्रीमती नीलिमा तिवारी (सी.भ.) - 1 - - - - - - 0
रिक्त- 1 पद (सी.भ.) 1
7 सहायक प्रोग्रामर तृतीय 9300-34800 01 01 00 श्री तापस कुमार बसाक (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
8 उपयंत्री तृतीय 9300-34800 04 03 01 1-श्री सुभाष जैन (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
2-श्री दिलीप कुमार साहू (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
3-श्री पोखराजपुरी गोस्वामी (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
रिक्त-1 पद (सी.भ.) 1
9 मानचित्रकार तृतीय 9300-34800 02 02 00 1-श्री चेतन कुमार मनहरे (सी.भ.) - - - - 1 - - - 0
2-श्री ललेसिंह नेताम (सी.भ.) - - - - - - 1 - 0
10 कलाकार तृतीय 9300-34800 02 02 00 1-श्री पी.के.पांडे (पदो.) 1 - - - - - - - 0
2-श्री टी.यू.हाशमी (पदो.) 1 - - - - - - - 0
11 रसायनज्ञ तृतीय 9300-34800 02 01 01 1. श्रीमती एफ. एस. तिर्की (पदो.) - - - - - - - 1 0
रिक्त 1 पद (पदो.) 1
12 शोध सहायक तृतीय 9300-34800 02 02 00 1-श्री लिब्बन लकड़ा (सी.भ./पदो.) - - - - - - 1 - 0
2-सुश्री जागृति सिंह (सी.भ.) - 1 - - - - - - 0
13 सहा.वर्ग 1 तृतीय 5200-20200 01 00 01 रिक्त - - - - - - - - 1
14 तक. सहा. (लेखन) तृतीय 5200-20200 02 02 00 1-सुश्री सीमारानी तिवारी (सी.भ.) - 1 - - - - - - 0
2-सुश्री दीप्ति गोस्वामी (सी.भ.) - - - 1 - - - - 0
15 सहा. पुरालेखपाल तृतीय 5200-20200 01 00 01 रिक्त- 1 पद (सी.भ.) 1
16 सहायक कलाकार तृतीय 5200-20200 02 01 01 1-श्री संजय झरबड़े (पदो.) - - - - 1 - - - 0
रिक्त-1 पद (पदो.) 1
17 सहायक रसायनज्ञ तृतीय 5200-20200 02 01 01 1- श्री भीरेन्द्र धीवर (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
रिक्त- 1 पद (सी.भ.) 1
18 उत्खनन सहा. तृतीय 5200-20200 03 03 00 1-डॉ.अरून्धति सिंह परिहार (सी.भ.) - 1 - - - - - - 0
2-डॉ.वृषोत्तम साहू (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
3-श्री प्रवीन तिर्की (सी.भ.) - - - - - - 1 - 0
19 अनुवादक तृतीय 5200-20200 02 02 00 1-श्री युगलकिशोर तिवारी (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
2-सुश्री रश्मि श्रीवास्तव (सी.भ.) - 1 - - - - - - 0
20 सहा.वर्ग- 2 तृतीय 5200-20200 16 14 02 1- श्री के.सी.श्रीवास्तव (पदो.) 1 - - - - - - - 0
2- श्री के.आर.नायडू (पदो.) - - - - - - 1 - 0
3- श्री प्रकाश उइके (पदो.) - - - - - - 1 - 0
4- श्री एस.पी.दुबे (पदो.) 1 - - - - - - - 0
5- श्री तिहार सिंह कंवर (पदो.) - - - - - - 1 - 0
6- श्री आलोक हेडाऊ (पदो.) - - - - - - 1 - 0
7- श्री मोहम्मद रफीक (पदो.) 1 - - - - - - - 0
8- श्री राम कृष्ण प्रधान (पदो.) - - - - - - 1 - 0
9- श्री लोकचंद मेश्राम (पदो.) - - - - 1 - - - 0
10- श्री जवाहर यादव (पदो.) - - 1 - - - - - 0
11- श्री सरजूराम ध्रुव (पदो.) - - - - - - 1 - 0
12- श्री विजय एक्का (पदो.)

-

-

-

-

-

-

1

-
0
13- श्री रवीन्द्र चतुर्वेदानी (पदो.) - - - - 1 - - - 0
14- श्री बीरबल राम कुजुर (पदो.) - - - - - - 1 - 0
रिक्त - 2 पद (पदो.) 2
21 स्टेनोग्राफर तृतीय 5200-20200 03 02 01 1-श्री देवेश साहू (पदो.) - - 1 - - - - - 0
2-सुश्री शिखा पाण्डेय (सी.भ.) - 1 - - - - - - 0
रिक्त - 1 पद (पदो.) 1
22 विडीयोग्राफर तृतीय 5200-20200 01 01 00 श्री विक्रांत वैष्णव (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
23 पर्यवेक्षक तृतीय 5200-20200 01 01 00 श्री प्रभात कुमार सिंह (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
24 सर्वेयर तृतीय 5200-20200 03 02 01 1-श्री कुमेन्द्र चंद्राकर (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
2- श्री प्रदीप कुमार साहू (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
रिक्त- 1 पद (सी.भ.) 1
25 डाटा एन्ट्‌ी ऑपरेटर तृतीय 5200-20200 08 08 00 1-श्री समीर टल्लू (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
2-श्री किशोर साहू (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
3-श्री योगेन्द्र वर्मा (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
4-श्री हेमनलाल मांजरे (सी.भ.) - - - - 1 - - - 0
5-श्री रविराज शुक्ला (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
6- श्रीमती सीमा चन्द्राकर (सी.भ.) - - - 1 - - - - 0
7-श्री ललित कुमार भगत (सी.भ.) - - - - - - 1 - 0
8-श्री देवेन्द्र ठाकुर (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
26 मार्गदर्शक/ गाईड (कनिष्ठ) तृतीय 5200-20200 04 03 01 1-सुश्री रोशनी शर्मा (सी.भ.) - 1 - - - - - - 0
2-श्री रजनीश झा (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
3-श्री नरेन्द्र नेताम (सी.भ.) - - - - - - 1 - 0
रिक्त- 1 पद (सी.भ.) 1
27 वरिष्ठ मार्गदर्शक तृतीय 5200-20200 03 01 02 1- श्री पी.सी.पारख (पुर.मुक्ता.) (पदो.) 1 - - - - - - - 0
रिक्त - 2 पद (पदो.) 2
28 स्वागतकर्ता तृतीय 5200-20200 02 01 01 रिक्त - - - - - - - - 1
2-सुश्री ऋचा शर्मा (सी.भ.) - 1 - - - - - - 0
29 सहा.उद्यान वि. अधि. तृतीय 5200-20200 01 00 01 रिक्त- (सी.भ.) 1
30 स्टेनों टायपिस्ट तृतीय 5200-20200 05 05 00 1-श्रीमती संध्या डेविड - - - - - - - 1 0
2-श्रीमती मीना चव्हाण - 1 - - - - - - 0
3-सुश्री रश्मि वैरागढ़े (सी.भ.) - - - 1 - - - - 0
4-श्री कंसराम पैकरा (सी.भ.) - - - - 1 - - - 0
5-श्री विकास कुमार वर्मा (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0

31
सहायक ग्रेड-3 तृतीय 5200-20200 21 14 07 1-श्री मनसिंह सलाम (म.घा.संग्र.रायपुर) (पदो.) - - - - - - 1 - 0
2- श्री राबर्टसन दास (अनुकम्पा नियुक्ति) 1 - - - - - - - 0
3- श्री मुकेश जोशी (अनुकम्पा नियुक्ति) 1 - - - - - - - 0
4- श्री रत्नेश सांगोड़े (सी.भ.) - - - - 1 - - - 0
5- श्री अजय चंद्राकर (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
6- श्री अनूप कुमार किण्डो (सी.भ.) - - - - - - 1 - 0
7- श्री शंकर दास मानिकपुररी (पदो.) - - 1 - - - - - 0
8- श्रीमती हूरबानो (पदो.) - 1 - - - - - 0
9- श्री भूषण साहू (पदो.) - - 1 - - - - - 0
10- श्री हरप्रसाद यादव (पदो.) - - 1 - - - - - 0
11- श्री गजानंद यादव (पदो.) - - 1 - - - - - 0
12- श्री शिव प्रसाद पटेल (पदो.) - - 1 - - - - - 0
13- श्रीमती राजेद्गवरी नेताम (अनुनियुक्ति) 1 0
14- श्री सुनील गोहत्रे (अनुकंपा नियुक्ति) - - - - - - 1 - 0
रिक्त -7 पद (सी.भ./ पदो.) 7
32 वाहन चालक तृतीय 5200-20200 03 03 00 1. श्री आर.के.पांडे (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
2. मदन लाल साहू (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
3. श्री राजेश कुमार (सी.भ.) - - - - 1 - - - 0
33 मोल्डर/ सेल्समेन तृतीय 5200-20200 02 02 00 1-श्री रामशरण (सी.भ.) 1 - - - - - - - 0
2-श्री संजय कुमार श्रीवास (सी.भ.) - - 1 - - - - - 0
34 बाईन्डर तृतीय 5200-20200 01 01 00 श्री विष्णु प्रसाद नेताम (सी.भ.) - - - - - - 1 - 0
108 82 26 19 10 22 3 8 0 17 3
29 25 8 20 26

नोटः- तृतीय श्रेणी के स्वीकृत 108 पदों में से 82 पद भरें एवं 26 पद रिक्त है।
भरे पद :- सामान्य- 29 अपिव-25 अ.जा.-08 अ.ज.जा.-20 त्र 82
रिक्त पदः- सामान्य- 16 अपिव-02 अ.जा.-04 अ.ज.जा.-04 त्र 26

-:: चतुर्थ श्रेणी ::-
क्र. पद नाम श्रेणी वेतनमान स्वीकृत पद भरे पद रिक्त पद कर्मचारियों का नाम सामान्य अपिव अ.जा. अ.ज.जा रिमार्क
पु पु पु पु
नियमित चतुर्थ श्रेणी
1 भृत्य/चौकीदार चतुर्थ 2550-3200 40 18 22 1.श्री आर.आर.रजक भृत्य - - 1 - - - - -
2.श्री महेन्द्र कुमार श्रीवास,भृत्य - - 1 - - - - -
3.श्रीमती त्रिवेणी बाई,भृत्य - - 1 - - - - -
4.श्री भगेला राम,भृत्य - - 1 - - - - -
5.श्री श्रवण कुमार मारकोले,भृत्य - - - - - - 1 -
6.श्री रामसिंह मौर्य,चौकीदार - - - - - - 1 -
7.श्री राजकुमार नेताम,भृत्य - - - - - - 1 -
8.श्रीमती लताबाई,भृत्य - - - - - 1 - -
9.श्री पांडेवा फरार्श,भृत्य - - - - 1 - - -
10.श्री भूषण मसीह,चौकीदार 1 - - - - - - -
11.श्री जगदीश राम कैवर्त,भृत्य - - 1 - - - - -
12.श्री सालिक दास वैष्णव,भृत्य - - 1 - - - - -
13.श्री चैतूराम,भृत्य - - 1 - - - - -
14.श्रीमती रजनी बाई,भृत्य - - - 1 - - - -
15.श्री रूप सिंह खुसरो,भृत्य - - - - 1 - -
16.श्रीमती कुमारी बाई,भृत्य - - - - - 1 - -
17.श्रीमती कमला बाई,केयर टेकर - - - - - 1 - -
18.श्रीमती फगनी बाई्र कुंजाम,भृत्य - - - - - 1 - -
योग :- 1 0 7 1 2 4 3 0
1 8 6 3
-:: चतुर्थ श्रेणी ::-
चतुर्थ श्रेणी के मुख्यालय एवं संग्रहालय हेतु स्वीकृत पद
क्र. पदनाम वेतनमान स्वीकृत पद भरे पद रिक्त पद
1 28चतुर्थ श्रेणी के मुख्यालय/संचालनालय हेतु स्वीकृत पद 2550-3200 28 19 09
2 12पद चतुर्थ श्रेणी के स्वीकृत 04संग्रहालय हेतु जिला पुरातत्व संघ द्वारा संचालित 1.राजनांदगांव संग्रहालय- 03पद 2.रायगढ़ संग्रहालय-03पद 3.जांजगीर-चांपा- 03पद 4.अंबिकापुर संग्रहालय- 03पद 2550-3200 12 0 12
योगः- 40 19 21
-:: चतुर्थ श्रेणी ::-
क्र. पद नाम श्रेणी वेतनमान स्वीकृत पद भरे पद रिक्त पद अधिकारी/कर्मचारियों का नाम सामान्य अपिव अ.जा. अ.ज.जा रिमार्क
पु पु पु पु
1 भृत्य चतुर्थ 2550-3200 29 17 12 1-श्री आर.आर.रजक - - 1 - - - - - 1
2-श्री एम.के.श्रीवास - - 1 - - - - - 1
3-श्रीमती त्रिवेणी बाई - - - 1 - - - - 1
4-श्री भगेलाराम - - 1 - - - - - 1
5-श्री श्रवण कुमार - - - - - - 1 - 1
6-श्री रामसिंह मौर्य - - - - - - 1 - 1
7-श्री राजकुमार नेताम - - - - - - 1 - 1
8-श्रीमती लता - - - - - 1 - - 1
9-श्री पांडेवा - - - - 1 - - - 1
10-श्री जगदीश राम केवट - - 1 - - - - - 1
11-श्री सालिक दास - - 1 - - - - - 1
12-श्री चैतुराम कैवर्त - - 1 - - - - - 1
13-श्री रजनी बाई - - - 1 - - 1
14-श्री रूपसिंह खुसरों - - - - - - 1 - 1
15-श्रीमती कुमारी बाई - - - - - - - 1 1
16-श्रीमती कमला बाई - - - - - 1 - - 1
17-फगनी कुंजाम (अनुकम्पा नियुक्ति) - - - - - - - 1 1
रिक्त-12पद 12
53 चौकीदार चतुर्थ 2550-3200 11 02 09 1-श्री भूषण मसीह 1 - - - - - - - 1
2-श्री देवसिंह ध्रुव - - - - - - 1 - 1
रिक्त-09 09
54 केयर टेकर (संग्र.गैलरी) चतुर्थ 2550-3200 04 00 04 4
55 केयर टेकर (जिलाध्यक्ष दर) चतुर्थ 2550-3200 12 12 00 12 12
56 चौकीदार (जिलाध्यक्ष दर) चतुर्थ 2550-3200 01 00 01 रिक्त 1
57 अंशकालीन फर्राश चतुर्थ 2550-3200 01 00 01 रिक्त 1
58 फर्राश,स्वीपर अंशकालीन (जिलाध्यक्ष) चतुर्थ 2550-3200 04 00 04 रिक्त 4
योग 62 31 31 0 0 0 0 0 0 0

नोटः- चतुर्थ श्रेणी के स्वीकृत 62 पदों में से 31 भरे 31 रिक्त है।

क्र. पद नाम श्रेणी वेतनमान स्वीकृत पद भरे पद रिक्त पद अधिकारी/कर्मचारियों का नाम सामान्य अपिव अ.जा. अ.ज.जा रिमार्क
पु पु पु पु
सांख्येत्तर केयर-टेकर
1 केयर-टेकर चतुर्थ 26 15 11 1-श्री टी.आर.बरेठ - - 1 - - - - - 1
2-श्री रामजी नेताम - - - - - - 1 - 1
3-श्री ए.आर.धृतलहरे - - - - 1 - - - 1
4-श्री लहरू सिंह - - - - - - 1 - 1
5-श्री मधु प्रसाद पांडेय 1 - - - - - - - 1
6-श्री चंदराम यादव (भृत्य) - - 1 - - - - - 1
7-श्री सीताराम मरकाम - - - - - - 1 - 1
8-श्री घनश्याम साहू - - 1 - - - - - 1
9-श्रीमती उदासा बाई - - - - - - - 1 1
10-श्री देवसिंह - - - - - - 1 - 1
11-श्री आत्माराम (स्वीपर) - - - - 1 - - - 1
12-बीरबल यादव - - 1 - - - - - 1
13-श्री तेजूराम - - - - - - 1 - 1
14-श्री निर्मल - - - - - - 1 - 1
15-श्री जगदीश राम - - - - - - 1 - 1
रिक्त-11पद - - - - - - - - 11
योगः- 0 4 0 2 0 7 1
4 8
-:: चतुर्थ श्रेणी ::-
क्र. पद नाम श्रेणी वेतनमान स्वीकृत पद भरे पद रिक्त पद अधिकारी/कर्मचारियों का नाम
1 भृत्य, चौकीदार, केयर-टेकर चतुर्थ 2550-3200 40 18 22 1. श्री आर.आर.रजक भृत्य
2. श्री महेन्द्र कुमार श्रीवास, भृत्य
3. श्रीमती त्रिवेणी बाई, भृत्य
4. श्री भगेला राम, भृत्य
5. श्री श्रवण कुमार मारकोले, भृत्य
6. श्री रामसिंह मौर्य, चौकीदार
7. श्री राजकुमार नेताम, भृत्य
8. श्रीमती लताबाई, भृत्य
9. श्री पांडेवा फरार्श, भृत्य
10. श्री भूषण मसीह, चौकीदार
11. श्री जगदीश राम कैवर्त, भृत्य
12. श्री सालिक दास वैष्णव, भृत्य
13. श्री चैतूराम, भृत्य
14. श्रीमती रजनी बाई, भृत्य
15. श्री रूप सिंह खुसरो, भृत्य
16. श्रीमती कुमारी बाई, भृत्य
17. श्रीमती कमला बाई, केयर टेकर
18. श्रीमती फगनी बाई्र कुंजाम, भृत्य
योगः 18 पद

लोक प्राधिकारी के पास या उनके नियंत्रण में उपलब्ध दस्तावेजों का प्रवगो (Categories) के अनुसार विवरण
अभिलेखागार प्रभाग
लोक प्राधिकारी के पास या उनके नियंत्रण में उपलब्ध दस्तावेजों का प्रवर्गो के अनुसार विवरण

क्र.स प्रवर्ग दस्तावेज का नाम एवं पंक्ति में परिचय दस्तावेज प्राप्त करने के लिए प्रक्रिया धारक/नियंत्रणाधीन
1 कार्यालयीन अभिलेख अभिलेखागार प्रभाग के प्रशासन, स्थापना लेखा-बजट, भंडार, अभिलेख (ii) आवेदन पर 30 दिवस में प्रदाय सहायक पुरालेख अधिकारी/ उप संचालक
2 ऐतिहास एवं महत्वपूर्ण (स्थायी प्रकृति) अभिलेख विवरण नीचे दर्शाए अनुसार (ii) शुल्क रू. 3/- प्रति, प्रतिलिपि गरीबी रेखा के नीचे के आवेदक को निःशुल्क सहायक पुरालेख अधिकारी/ उप संचालक

सूची क्रमांक 1

S. No. File No. Year Subject Remark
1 Vol. I 1854-55 Chhattisgarh Divisional Records Vol. I 1854-55
2 Vol. II 1855 Chhattisgarh Divisional Records Vol. II 1855
3 F.E.3-1/37 1935 (1) Request of the Bishop of Ranchi to be permitted to visit Udaipur and Raigarh States to tour in those States and to minister to the Converts.
(2) Activities of the Christian Missions in the Eastern States Agency.
4 57-C/36 1936 Succession to the Bastar Gadi, Minor Maharajas' gotra
5 927-P/36 1936 A summary of the results of investigations of iron ore deposits in the Bastar State by Mr. h Crookshank, Superintendent, Geological survey of India.
6 F-3-1/39 1939 Activities of the Christian Mission in The Eastern State Agency.
7 C 6-4/ 40 1940 Admission of certain States in The Eastern States Agency to the Chamber of Princes in their own rights.
8 M 8-12/44 1944 Development of Mineral Resources in Bastar State.
9 R 13-4/47 P 1947 Surguja Affairs
10 R 139/47 1947 Title of the Ruler of Changbhakar
11 Wajib-ul-Arz of the Nadgaon State

सूची क्रमांक 2

1 -- 30.11.1955 अग्रदूत समाचार पत्रा 30.11.1950 मूलप्रति
आदिम जाति अनुसंधान संस्थान मध्यप्रदेश, भोपाल से प्राप्त
1 हलबा, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
2 कंडरा, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
3 विरहोर, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
4 अगरिया, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
5 उरांव, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
6 पाव, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
7 मुण्डा, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
8 धनका, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
9 बैगा, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
10 बिंझवार च्ंतज प् - प्प् जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
11 भतरा, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
12 मुरिया, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
13 दोरला, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
14 थनवार, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
15 पारधी/बहेलिया, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
16 भुंजिया , जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
17 मॉझी, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
18 धुरवा गोंड़, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन
19 गदबा, जनजाति का सक्षिप्त मानव शास्त्रीय अध्ययन मोनोग्राफिक अध्ययन

अभिलेखागार प्रभाग

अभिलेख का नाम ................................. अभिलेख का प्रकार
निम्न में से किसी एक प्रकार को चुने (नियम, विनियम, अनुदेश, निर्देशिका का अभिलेख अन्य)
अभिलेख का संक्षिप्त परिचय (प) अभिलेखागार प्रभाग के लेखा प्रशासन, स्थापना, लेखा-बजट, भंडार, अभिलेख
(पप) ऐतिहासिक एवं महत्वपूर्ण (स्थायी प्रकृति) के संधारित अभिलेख (सूची संलग्न)
नियम, विनियम, अनुदेश, निर्देशित और अभिलेख की प्रति कहां से प्राप्त कर सकते है । मुख्यालय (संचालनालय संस्कृति एवं पुरातत्व,महन्त घासीदास संग्रहालय, रायपुर छत्तीसगढ़)
नियम, विनियम, अनुदेश, निर्देशिका और अभिलेख की प्रति कहां से प्राप्त करने का शुल्क (यदि कोई हो) मुख्यालय द्वारा उल्लेखित सूचना अनुसार
(मैनुअल-16)
विभाग द्वारा जनता को सूचना उपलब्ध कराने हेतु निम्न अधिकारी नियुक्त हैं,
जिनका विवरण निम्नानुसार है :-
क्र. नाम/पदनाम अधिनियम अनुसार पद दूरभाष क्रमांक पूर्ण पता
1 रमेश चन्द्र सिन्हा (आई.ए.एस)सचिव/संचालक अपीलीय अधिकारी (कार्यालय) 2537404, 2234731
(मोब.) 9425207612
एच.एन.-1, 32 बंगला, सेक्टर-9, भिलाई नगर, जिला-दुर्ग (छ.ग.)
2 राहुल कुमार सिंह
(उप संचालक)
जनसूचना अधिकारी
(स्थापना प्रभारी, न्यायालयीन प्रकरण, पुरातत्व)
(कार्यालय) 2537404, 2234731
(मोब.) 9425227484
409, रॉयल एक्जॉटिका, टी.वी.टावर के पास, शंकर नगर, रायपुर(छ.ग.)
3 एस.एस.सी. केरकट्‌टा
उप संचालक (राजभाषा)
जनसूचना अधिकारी
(राजभाषा, अनुदान, आर्थिक सहयोग, कलाकार कल्याण कोष)
(कार्यालय) 2537404,
2234731
(मोब.) 9826439500
मंगल फेब्रिकेद्गान के पास, न्यू गंगा विहार, अमलीडीह रायपुर(छ.ग.)
4 जे.आर. भगत
(उप संचालक)
जनसूचना अधिकारी
(जगदलपुर संग्रहालय, मुख्यालय)
(कार्यालय) 2537404,
2234731
(मोब.) 9424285511
शासकीय आवासीय परिसर, सूर्यो अपार्टमेन्ट, कटोरा तालाब, रायपुर(छ.ग.)
5 एस. बी. सतपाल
(उप संचालक) (संविदा)
जनसूचना अधिकारी
(अभिलेखागार /प्रभारी मुक्तांगन )
(कार्यालय) 2537404,
2234731
(मोब.) 9425503483
एच.-10,आर.डी.ए. कॉलोनी,टिकरापारा, रायपुर(छ.ग.)
6 सी. आर. साहनी
उप संचालक(वित्त)
जनसूचना अधिकारी (कार्यालय) 2537404,
2234731
(मोब.) 9229291446
न्यू राजेंद्र नगर, विद्या नगर, अमलिडी, रायपुर (छ.ग.)
7 डॉ. शिवाकांत वाजपेयी
(पुरातत्वीय अधिकारी)
जनसूचना अधिकारी
(तेरहवें वित्त आयोग, पुरातत्व)
(कार्यालय) 2537404,
2234731
(मोब.) 9425520349
शंकर नगर, रायपुर, (छ.ग.)


8 डॉ. कामता प्रसाद वर्मा
(मुख्य रसायनज्ञ)
जनसूचना अधिकारी
(प्रभारी प्रकाशन अधिकारी/आहरण एवं संवितरण अधिकारी)
(कार्यालय) 2537404,
2234731
(मोब.) 9826467474
पचपेड़ी नाका, रायपुर (छ.ग.)


9 टी. आर. रामटेके
(कार्यपालन अभियंता )
जनसूचना अधिकारी
(प्रभारी उत्खनन)
(कार्यालय) 2537404,
2234731
(मोब.) 8349362428
40/1171, संजय नगर-मुख्य मार्ग, रायपुर (छ.ग.)


10 श्री अमृतलाल पैकरा
(संग्रहाध्यक्ष रायपुर)
जनसूचना अधिकारी
(महंत सर्वेश्वर दास ग्रंथालय, रायपुर एवं मंहत घासीदास स्मारक संग्रहालय, रायपुर)
(कार्यालय)
2537404
2234731
(मोब.) 9669941110
कार्यालय
श्री रमेश चन्द्र सिन्हा (आई.ए.एस)

सचिव/संचालक
संस्कृति एवं पुरातत्व

कृत्यों के निर्वहन के लिए स्थापित मानक/नियम
15.1 लोक प्राधिकरण द्वारा अपने विभिन्न क्रिया कलापों/कार्यक्रमों के संपादन हेतु प्रयोग किये जाने वाले मानक नियम -

  • राज्य स्तरीय समाचार पत्रों में विज्ञापन।
  • निर्माण कार्यों में लोक निर्माण विभाग के द्वारा प्रचलित सी.एस.आर. की दरें तथा कार्यप्रणाली के आधार पर निर्माण कार्य करवाये जाते है।
  • राज्य पुरस्कार हेतु शासन की सहमति से विधिवत विषय विशेषज्ञ जूरी का गठन तथा निर्णयों का पालन।
  • राज्य अतिथि के रूप में घोषित माननीय विशेषज्ञों को तदनुकूल सुविधाऍ - वाहन, यात्रा-व्यय, अतिथि-सत्कार आदि प्रदत्त करना।
  • राष्ट्रीय स्तर के प्रतिष्ठित कलाकार, साहित्यकार एवं कला मर्मज्ञों को राज्य में आमंत्रित किये जाने पर तद्‌नुकूल सुविधाएं एवं मादेय का भुगतान लोकशिल्पियों तथ कलाकारों को राज्य के बाहर भेजने जाने की स्थिति में आवागमन, आवास, भोजन आदि की व्यवस्था एवं अन्य भत्तों का निर्धारिण मान्य दरों पर भुगतान।

    इलेक्ट्रानिक रूप में उपलब्ध सूचनाऍ
    16.1 विभाग द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों से संबंधित जानकारी प्रस्तुत करें जो कि इलेक्ट्रानिक फारमेट में हो -
    विभाग द्वारा आयोजित कुछ कार्यक्रम जैसे राज्योत्सव, पावस प्रसंग, शास़्त्रीय कार्यक्रम, राजिम कुंभ, आकार आदि के केसेट तैयार कर संधारित रखे गये हैं। सूचना प्राप्त करने के लिए नागरिकों को उपलब्ध सुविधाओं का विवरण दे दी जायगी। विभागीय वेबसाईट www.cgculture.in पर जानकारी उपलब्ध करा दी गई है।
    17.1 सूचनाओं को जनता तक पहुँचाने के लिए विभाग/संगठन द्वारा की गयी व्यवस्था का विवरण जैसे-
  • पुस्तकालय - हॉ ।
  • नुक्कड़/नाटक - हॉ ।
  • अखबारों के द्वारा - हॉ अखबारों में जानकारी तथा विज्ञापन प्रसारित किये जाते हैं
  • प्रदर्शनी - हॉं। सूचना पटल - हॉं।
  • अभिलेखों का निरीक्षण - प्रारंभ है।
  • दस्तावेजों की प्रति प्राप्त करने की व्यवस्था - निर्धारित प्रक्रिया के अंतर्गत आवेदक के द्वारा मांग की जाने पर संबंधित कार्यालय अथवा शाखा से प्राप्त करने के लिए मार्गदर्शन ओैर सहयोग प्रदान किया जावेगा।
  • उपलब्ध विभागीय मैनुअल - विभागीय मैनुअल के निर्माण की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गयी है। लोक प्राधिकरण का वेबसाईट - तैयार की गयी है (www.cgculture.in)
  • अन्य प्रचार-प्रसार के साधन - विभागीय कार्यक्रमों के अंतर्गत आयोजित प्रदर्शनी, संगोष्ठी, सेमीनार तथा ब्रोशर्स के माध्यम से समय-समय पर सामान्य जनता के लिए आयोजित कार्यक्रमों का प्रचार-प्रसार किया जाता है।

महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय, रायपुर
रायपुर में संग्रहालय की स्थापना वर्तमान संग्रहालय का लोकार्पण खुलने का समय अवकाश प्रवेश शुल्क दीर्घाओं में प्रदर्शित पुरावशेषों की संख्या परिसर में प्रदर्शित कलाकृतियों की संख्या कैमरा शुक्ल
सन्‌ 1875 सन्‌ 1953 प्रातः 10 से 5 बजे संध्या प्रति सोमवार एवं सभी राजपत्रित अवकाश एक रूपये प्रति व्यक्ति 878 77 प्रति कैमरा 5 रूपय

जिला पुरातत्व संग्रहालय, जगदलपुर
जगलदपुर में संग्रहालय की स्थापना खुलने का समय साप्ताहिक अवकाश एवं सभी राजपत्रित अवकाश प्रवेश शुल्क दीर्धाओं की संख्या दीर्घा में प्रदर्शित पुरावशेषों की संख्या कैमरा/विडियों शुल्क संग्रहालय में संग्रहित पुरावशेषों की संख्या
सन्‌ 1988 प्रातः 10 से 5 बजे संध्या तक प्रति सोमवार एवं राजपत्रित अवकाश कुल-03 दीर्घा रिजर्व 55 नग
138
प्रति कैमरा रू. 5/- 193 नग

जिला पुरातत्व संग्रहालय, बिलासपुर
बिलासपुर में संग्रहालय की
स्थापना
खुलने का समयसाप्ताहिक अवकाश एवं सभी राजपत्रित अवकाशप्रवेश शुल्कदीर्धाओं की संख्यादीर्घा में प्रदर्शित पुरावशेषों की संख्याकैमरा/विडियों शुल्क
सन्‌ 1983प्रातः 10 से
संध्या 5 बजे तक
प्रति सोमवार एवं सभी राजपत्रित उवकाश निःशुक्लकुल-03
हॉल
बरामदा
कार्यालय रिजर्व
55
16
88
24
प्रति कैमरा रू. 5/-

महन्त सर्वेश्वर दास सार्वजनिक ग्रंथालय रायपुर, छत्तीसगढ़
महन्त सर्वेश्वर दास में ग्रंथालय की
स्थापना
खुलने का समय अवकाश सदस्यता शुल्क आजीवन सदस्यता शुल्क संघारित ग्रंथ एवं पत्र पत्रिकाओं
की संख्या
सन्‌ 1953 दोपहर 1 से शाम 7 बजे तक प्रति सोमवार एवं राजपत्रित अवकाश रूपए 300/- रूपए 1000/- सामान्य किताबें - 20,640
सन्दर्भ - 6143
ओ.एस.डी. ग्रन्थालय -1362
ओ.एस.डी. पत्रिकाएं -346
स्व. सुन्दरलाल त्रिपाठी, ग्रथालय - 857
सजिल पत्रिकाएं - 2140
दैनिक समाचार पत्र - 13
साप्ताहिक पत्रिकाएं - 7
पाक्षिक पत्रिकाएं - 14
मासिक पत्रिकाएं - 44
त्रैमासिक पत्रिकाएं - 7
टीप.
  1. ग्रंथालय में समाचार पत्र, पत्रिकाएं एवं अन्य पुस्तकें पढने हेतु सदस्यता की आवश्यकता नही हैं।
  2. सदर्भ पुस्तके ग्रंथालय में पढ़ने हेतु परिचय पत्र के माध्यम से पुस्तक प्राप्त की जा सकती हैं।